श्याम तेरी याद

by February 12, 2019
      श्याम तेरी याद  वक्त से जो ठोकर खाई न होती। श्याम तेरी याद मुझको आई न होती। बड़ी जिंदगी मे कठिनाई न होती। श्याम तेरी याद ...Read More

जिंदगी की धूँप

by February 12, 2019
जिंदगी के धूँप कम नही देखे। छाँव भी मिले मगर भीक के जैसे। कोई आगे आया गर मदद के लिए। वक्त आने पर उसने दे दिए ताने। वक्त बदला त...Read More

जानने की इच्छा..जिज्ञासा

by February 09, 2019
जानने की इच्छा …. जिज्ञासा जब हम पाँचवी या छठवी कक्षा मे पढ़ते थे तो उस समय कक्षाए कही बाग-बगैचे मे लगतीं थीं। छात्र बस्ता और बैठने के ...Read More

खुशी

by February 05, 2019
थोड़ा घुलती है और निखर आती है। हँसी बनकर खुशी होठो पे बिखर जाती है। लाख छुपा लो मगर छुपती नही है। कभी कभी तो आँखो से छलक जाती है। उगते स...Read More

"हम" का बहम

by February 02, 2019
वीणा के तार,बासुरी की धुन को कौन समझता है। हर कोई यहाँ अपने मतलब के लिए लड़ता है। है मददगार कोई मगर सामने नही दिखता है। आखिर उस करतार को ...Read More

बचपन लौटा दे

by February 01, 2019
ये खिलौने बुलाते है हमे। बचपन याद आते है हमे। ये प्लास्टिक के छोटे छोटे गुड़िया-गुड्डे। ये छोटे छोटे कार,बस ,जीप और रेले। कभी इनसे थे ...Read More
Powered by Blogger.